0

RBI बोर्ड की बैठक टली अब 9 फ़रवरी को

7 फ़रवरी को होने वाली RBI बोर्ड की बैठक अब 9 फ़रवरी को होगी।

नई दिल्ली। वित्त मंत्री पीयूष गोयल अंतरिम बजट के बाद अब 9 फ़रवरी को आरबीआई के केंद्रीय बोर्ड की बैठक को संबोधित करेंगे। छटी मौद्रिक निति के दो दिन बाद होने वाली इस बैठक में गोयल अंतरिम बजट के मुख्य बिंदुओं को रेखांकित करेंगे। सूत्रों के मुताबिक, इसमें चालू वित्त वर्ष के लिए अंतरिम लाभांश के सरकार के अनुरोध पर भी विचार किया जाएगा। केंद्रीय बैंक की पहली छमाही की स्थिति के आधार पर सरकार को चालू वित्त वर्ष में आरबीआई से 28,000 करोड़ रूपए अंतरिम लाभांश मिलने की उम्मीद है। केंद्रीय बैंक चालू वित्त वर्ष के लिए 40,000 करोड़ रुपये के लाभांश का भुगतान कर चूका हैं।

नए आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास की पहली समीक्षा बैठक 

बीते दिसंबर में आरबीआई के नए गवर्नर के रूप में शक्तिकांत दास ने इस पद को संभाला, उनके लिए यह पहली मौद्रिक समीक्षा होगी।

0

किसानो के लिए RBI लेगा बड़ा फैसला आसानी से लोन दे सकेंगे सभी बैंक

7 फरवरी को होंनें वाली बैठक में किसानों को लेकर ज्यादा बात चित होगी जिससे किसानों को आसानी से मिल पायेगा लोन 

भारतीय रिजर्व बैंक RBI बाजार में नकदी उपलब्धता बढ़ाने के लिए फरवरी में खुले बाजार हस्तक्षेप के जरिये 37,500 करोड़ रुपये डालेगा. इसके लिए वह सरकारी प्रतिभूतियों की खरीद करेगा. रिजर्व बैंक ने एक बयान में कहा कि वह व्यवस्था में तरलता की स्थिति पर नजर रखे हुये है. RBI की ओर से सिस्टम में पैसे डाले जाने से बैंकों के लिए लोन देना आसान होगा. वहीं आम लोगों को भी आसानी से लोन मिल सकेगा.

सरकारी प्रतिभूतियों को खरीदेगा केंद्रीय बैंक

केंद्रीय बैंक ने कहा है, ‘‘बैंक ने खुले बाजार में हस्तक्षेप की नीति (ओएमओ) के तहत सरकारी प्रतिभूतियों की खरीद करने का निर्णय किया है. इस खरीद के लिए फरवरी माह में बैंक कुल 375 अरब रुपये खर्च करेगा. बैंक फरवरी के दूसरे, तीसरे और चौथे सप्ताह में तीन बार की नीलामी में प्रत्येक बार 125 अरब रुपये की खरीद करेगा.’’ RBI ने बताया कि फरवरी के पहले सप्ताह में कोई नीलामी नहीं होगी क्योंकि उस हफ्ते में मौद्रिक नीति समिति की बैठक होनी है. बैंक ने कहा कि नीलामी तिथियों की घोषणा समय-समय पर करेगा.

कई बैंकों को मिल सकती है राहत

कई सरकारी बैंक जो रिजर्व बैंक की पाबंदियों की वजह से लोन नहीं बांट पा रहे हैं, उन्हें अगले महीने तक राहत मिल सकती है. ज़ी बिज़नेस को रिजर्व बैंक के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक 31 जनवरी को रिज़र्व बैंक के बोर्ड ऑफ Financial Supervision की बैठक में इस पर फैसला लिया जाएगा. सूत्रों की मानें तो जिन बैंकों के डूबे कर्ज़ों में कमी आई है, पूंजी की स्थिति अच्छी है और वित्तीय स्थिति बेहतर हो रही है. ऐसे बैंकों को प्रॉम्ट करेक्टिव एक्शन (PCA) से जल्द राहत दी जाएगी. प्रॉम्ट करेक्टिव एक्शन से बैंकों की सेहत और न बिगड़े इसलिए लोन बांटने और गैर जरूरी खर्चों पर रोक लग जाती है. सूत्रों की मानें तो शुरू में 3-4 बैंकों को इसके दायरे से बाहर लाया जा सकता है. इसका औपचारिक एलान 15 फरवरी के आसपास हो सकता है. दरअसल 9 फरवरी को रिज़र्व बैंक के सेंट्रल बोर्ड की दिल्ली में बैठक होगी, जिसकी अध्यक्षता वित्त मंत्री करेंगे. मुमकिन है कि सेंट्रल बोर्ड की हरी झंडी मिलने या फिर उसके पहले भी बैंकों के लिए इस राहत का एलान कर दिया जाए.

0

विशाखा मुले को ICICI बैंक का कार्यकारी निदेशक बनाने को RBI ने दी मंजूरी

बुधवार को आईसीआईसीआई बैंक ने यह जानकारी दी।

भारतीय रिजर्व बैंक ने विशाखा मुले को फिर दो साल के लिए कार्यकारी निदेशक (ईडी) पद पर नियुक्त करने को मंजूरी दे दी है। बुधवार को आईसीआईसीआई बैंक ने यह जानकारी दी है।

आईसीआईसीआई बैंक ने शेयर बाजारों को बताया कि उनकी नियुक्ति 19 जनवरी, 2019 से प्रभावी होगी। वह वर्ष 2015 से बैंक की कार्यकारी निदेशक रही हैं और थोक बैंकिंग समूह की प्रमुख थीं।

0

RBI देगा सभी ग्राहकों को बड़ी राहत कम होगी आपके घर की EMI

RBI की दिसंबर में हुई मॉनिटरिंग पॉलिसी की बैठक में रेपो दर में कोई बदलाव नहीं किया गया था. रेपो दर 6.5 फीसदी पर बरकरार है, जबकि रिवर्स रेपो रेट भी 6.25 फीसदी है. 

वेतनभोगी कर्मचारी के वेतन का एक बड़ा भाग किस्तें भरने में खर्च हो जाता है, खासकर मकान की ईएमआई में. लेकिन अब घर की किस्त भर रहे लोगों को कुछ राहत मिल सकती है. दिसंबर में महंगाई दर में राहत मिलने के बाद, जल्द ही भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) आपके होम लोन की मासिक किस्त कम करने की दिशा में कदम उठ सकता है. फरवरी में होने वाली मॉनटरिंग पॉलिसी में आरबीआई ब्याज दरों में कुछ राहत दे सकता है.

ब्याज दर घटाने की मांग

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने फिक्की, एसोचैम, सीआईआई (CII) के अधिकारियों के साथ बैठक की. इस बैठक में उदय कोटक, आदि गोदरेज, बीके गोयनका, चंद्रजीत बनर्जी जैसे बड़े दिग्गज भी मौजूद थे. इंडस्ट्री के दिग्गजों ने कहा कि ब्याज दरों में 0.25% की राहत मिलनी चाहिए. बैठक में यह भी तय किया गया कि हर 3 महीने में इंडस्ट्री अपना इनपुट रिजर्व बैंक को देगी.

भारतीय रिजर्व बैंक की दिसंबर में हुई मॉनिटरिंग पॉलिसी की बैठक में रेपो दर में कोई बदलाव नहीं किया गया था. रेपो दर 6.5 फीसदी पर बरकरार थी, जबकि रिवर्स रेपो रेट भी 6.25 फीसदी पर ही बरकरार रहा.

लिक्विडिटी बढ़ाने की मांग

इस दौरान रिजर्व बैंक गवर्नर शक्तिकांत दास ने निर्यातकों और सुक्ष्म तथा लघु उद्योग (एमएसएमई) सेक्टर की दिक्कतों को दूर करने के लिए सुझाव भी मांगे. इंडस्ट्री ने बाजार में पैसे की दिक्कत को दूर करने की गुजारिश भी रिजर्व बैंक गवर्नर से की. फिक्की प्रेसिडेंट संदीप सोमानी ने बताया कि गवर्नर ने भरोसा दिया है कि लिक्विडिटी बढ़ाने के लिए रिजर्व बैंक सभी तरह के कदम उठा रहा है.

0

रिजर्व बैंक ने बजाज फाइनेंस पर लगाया एक करोड़ का जुर्माना

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी बजाज फाइनेंस लिमिटेड पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी बजाज फाइनेंस लिमिटेड पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। “निष्पक्ष व्यवहार संहिता” का उल्लघंन करने पर यह जुर्माना ठोका गया है। आरबीआई ने सोमवार को इसकी जानकारी दी। रिजर्व बैंक ने कहा कि यह कार्रवाई नियमाकीय अनुपालन में खामी बरतने पर आधारित है। केंद्रीय बैंक ने स्पष्ट किया कि यह फैसला ग्राहकों के साथ एनबीएफसी के लेनदेन या समझौते पर नहीं है। बजाज फाइनेंस उपभोक्ता ऋण, सूक्ष्म एवं मझोले उद्यमों और वाणिज्यिक ऋण उपलब्ध मुहैया कराती है।

ब्याज दरों में कुछ कटौती कर सकता है आरबीआई

पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार कौशिक बसु ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा देने के लिए ब्याज दर में ‘कुछ’ कमी कर सकता है। बसु ने इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स द्वारा आयोजित एक सत्र में कहा, ‘गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों (एनपीए) की समस्या ने बैंकों को सतर्क कर दिया है। हालांकि भारत में ब्याज दरों को कुछ कम करने की गुंजाइश की है।

उन्होंने कहा कि आरबीआई को पूर्ण स्वायत्तता के साथ अकेले छोड़ दिया जाना चाहिए।’ आरबीआई की मौद्रिक समीक्षा फरवरी में होनी है। उन्होंने ये भी कहा कि भारत में निवेश दर में भी कमी आई है। जीएसटी के बारे में बसु का कहना था कि यह विदेशों से लिया गया आईडिया है और इसे सही तरीके से लागू नहीं किया गया। उन्होंने नोटबंदी को भी गलत ठहराया।

0

RBI ने बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र पर एक करोड़ का जुर्माना लगाया

RBI ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक आफ महाराष्ट्र पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है.

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक आफ महाराष्ट्र पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. यह जुर्माना अपने ग्राहक को जानिये दिशानिर्देशों (KYC) और धोखाधड़ी-वर्गीकरण नियमों का अनुपालन नहीं करने पर लगाया गया है. RBI ने एक बयान में यह जानकारी दी है.

RBI ने जुर्माना लगाने की बताई ये वजह

इसमें कहा गया है कि यह जुर्माना बैंक द्वारा रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों का पालन नहीं करने पर लगाया गया है. इसमें कहा गया है कि यह कार्रवाई नियामकीय अनुपालन में खामी के आधार पर की गई है. इसके पीछे बैंक और ग्राहकों के बीच हुए किसी प्रकार के लेनदेन और समझौते की वैधता को लेकर सवाल उठाने की कोई मंशा नहीं है.

पिछले साल भी बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र पर लगा था जुर्माना

RBI ने पिछले साल भी बैंक ऑफ महाराष्ट्र पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था. यह जुर्माना एक खाते में धोखाधड़ी का पता लगाने में बैंक की तरफ से की गई देरी को लेकर लगाया गया था.

0

RBI जल्द जारी करेगा 20 रुपये का नया नोट, नए 20 रुपये नोट की खासियत ?

RBI जल्द ही इस फीचर्स के साथ 20 रुपए का नया नोट जारी करेगा, सेंट्रल बैंक की तरफ से जारी एक दस्तावेज में इसकी जानकारी दी गई है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया जल्द ही एडिशनल फीचर्स के साथ 20 रुपए का नया नोट जारी करेगा. सेंट्रल बैंक की तरफ से जारी एक दस्तावेज में इसकी जानकारी दी गई है। आरबीआई पहले ही 10, 50, 100, 200 और 500 और 2000 रुपए के नए नोट जारी कर चुका है। नंवबर 2016 के बाद से महात्मा गांधी (नई) सीरीज के तहत नए फीचर्स के साथ नए कलर पैटर्न में नोट जारी किए गए हैं। इनका साइज और डिजाइन पहले के नोटों के मुकाबले बिल्कुल अलग है। हालांकि, नए नोट आने से पुराने नोट भी चलन में रहेंगे।

20 रुपए के कितने फीसदी नोट हैं

आरबीआई के डाटा के मुताबिक, 31 मार्च 2016 तक 20 रुपए के 492 करोड़ नोट सर्कुलेशन में थे, वहीं, मार्च 2018 तक इनकी संख्या बढ़कर 1000 करोड़ हो गई, मार्च 2018 के अंत तक सर्कुलेशन में कुल करेंसी के 9.8 फीसदी नोट 20 रुपए के हैं।

 कामकाजी महिलाओं के लिए खास तोफा ये बैंक दे रहे है खास ऑफर ! 

नंबर पैनल में होगा अंग्रेजी अक्षर ‘एस’

रिजर्व बैंक के एक नोटिफिकेशन के मुताबिक, इन नए नोट के नंबर पैनल में अंग्रेजी का अक्षर ‘एस’ होगा, नोट पर रिजर्व बैंक के गवर्नर के हस्ताक्षर होंगे, केंद्रीय बैंक ने कहा कि इस नोट का डिजाइन पूर्व में इसी श्रृंखला में जारी 20 रुपये के नोट के समान होगा।

20 रुपए नए नोट पर होगा ये तस्वीर

20 रुपए के नए नोट पर भी ऐतिहासिक इमारत का फोटो लगा होगा. सूत्रों की मानें तो 20 रुपए के नए नोट पर यूनेस्को की ओर से विश्व घरोहर के रूप में प्रचलित महाराष्ट्र की अजंता की गुफाओं का फोटो होगा, नया नोट पुराने नोट के मुकाबले करीब 20 फीसदी छोटा होगा, 20 रुपए का नया नोट भी नोटबंदी के बाद जारी किए गए आधुनिक सुरक्षा फीचर्स के साथ तैयार किया गया है, 20 रुपए के नए नोट में पुराने के मुकाबले मुख्य बदलाव रंग और स्मारक का ही है।

नोट पर और क्या-क्या होगा

नोटों पर अंकित “20”, आरबीआई सील, महात्मा गांधी की तस्वीर, आरबीआई लेजेंड, गारंटी और प्रोमिस क्लॉज, गवर्नर के हस्ताक्षर, अशोका पिलर जो अब तक हीथ्रेटो में मुद्रित होते थे, अब वे इंटैगलिओ में ऑफसेट प्रिटिंटेड होंगे। बैंक नोट में बाएं तरह बना हुआ वर्गाकार इंडेटिफिकेशन मार्क हटा दिया जाएगा।

0

केंद्रीय बैंक के दबाव से वित्तीय स्थिरता को नुकसान : एसएंडपी

वेेस्विक क्रेडिट रेटिंग एजेंसी एसएंडपी ने चेताया है की आरबीआई पर सरकार के लगातार दबाव से देश की दीर्घकालिक वित्तीय स्थिरता और बैंकिंग प्रणाली की उपलब्धियों को नुकसान पहुंच सकता है। एसएंडपी ने उर्जित पटेल के इस्तीफे के लिए जिम्मेदार परिस्थितियों को नकरात्मक बताया।

उसका कहना है की बैंको में गवर्नेंस और पारदर्शिता पर काम करने की जरुरत है। एसएंडपी ने कहा की हम आरबीआई के निदेशक की जनवरी, 2019 में होने वाली बैठक में बैंकिंग प्रणाली के नियमनों में किसी बदलाव का इंतजार करेंगे। आरबीआई कई अन्य प्राधिकरणों की तुलना में पारम्परिक ताेेर पर अधिक स्वतंत्र रहा है, और इसकी संस्थागत सांस्कृत शानदार रही हैं।

 कामकाजी महिलाओं के लिए खास तोफा ये बैंक दे रहे है खास ऑफर !