0

IDBI बैंक में LIC की हिस्सेदारी 51 फीसद हुआ

आईडीबीआई बैंक को चालू वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में 3,602.49 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था

सार्वजनिक क्षेत्र की भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) ने वित्तीय संकट के दौर से गुजर रहे आईडीबीआई बैंक में अपनी 51 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण सौदा पूरा कर लिया है। इसके बाद बैंक में एलआईसी की अधिकांश हिस्सेदारी हो गई है।

आईडीबीआई बैंक ने बीएसई फाइलिंग में जानकारी दी, ” यह सौदा आईडीबीआई बैंक और एलआईसी दोनों के लिए अच्छा है। इससे आपसी सहयोग के जरिये दोनों इकाइयों के शेयरधारकों, ग्राहकों और कर्मचारियों के लिए नए अवसर पैदा किये जा सकेंगे।” पिछले वर्ष अगस्त महीने में कैबिनेट ने तरजीही आवंटन और इक्विटी के खुले प्रस्ताव के संयोजन के माध्यम से बैंक में एक प्रमोटर के रूप में जीवन बीमा निगम (LIC) की ओर से नियंत्रण हिस्सेदारी के अधिग्रहण को मंजूरी दे दी थी।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि आईडीबीआई बैंक को चालू वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में 3,602.49 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। वहीं, बैंक का सकल एनपीए कुल कर्ज का 31.78 फीसद (60,875.49 करोड़ रुपये) रहा, पिछले वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में यह आंकड़ा 24.98 फीसद रहा था।

IDBI Bank

गौरतलब है कि आईडीबीआई बैंक के पास करीब 1.5 करोड़ रिटेल कस्टमर्स हैं और इसके अंतर्गत 18,000 कर्मचारी काम कर रहे हैं। आईडीबीआई बैंक की 800 शाखाओं का इस्तेमाल अब एलआईसी पॉलिसी की बिक्री के लिए बतौर टच प्वाइंट हो सकेगा।