You are here
Home > Banking > Debit Card जल्‍द हो जाएंगे पुराने, UPI की मदद से ATM से निकलेंगे पैसे

Debit Card जल्‍द हो जाएंगे पुराने, UPI की मदद से ATM से निकलेंगे पैसे

बिना डेबिट कार्ड के भी आप अपने बैंक अकाउंट से पैसे निकाल सकेंगे. इसमें आपके UPI एनेबल्‍ड ऐप मददगार साबित होगा. ATM से पैसे निकालने के लिए यूनिफायड पेमेंट इंटरफेस यानी UPI का इस्‍तेमाल किया जाएगा.

जल्‍द ही आप ATM में QR कोड स्‍कैन कर विड्रॉ कर सकेंगे पैसे (फाइल फोटो)

कुछ दिन बाद यह जरूरी नहीं होगा कि आप पैसे विड्रॉ करने के लिए ATM में अपना डेबिट कार्ड लेकर ही जाएं. बिना डेबिट कार्ड के भी आप अपने बैंक अकाउंट से पैसे निकाल सकेंगे. इसमें आपके स्‍मार्टफोन का कैमरा और UPI एनेबल्‍ड ऐप मददगार साबित होगा. ATM से पैसे निकालने के लिए यूनिफायड पेमेंट इंटरफेस यानी UPI का इस्‍तेमाल किया जाएगा.

कोई नया ऐप डाउनलोड करने की जरूरत भी नहीं होगी

ATM से कैश निकालने के लिए आपको एटीएम मशीन पर दिख रहा QR कोड स्‍कैन करना होगा. टाइम्‍स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, बैंकों को ATM की सर्विस उपलब्‍ध कराने वाली कंपनी AGS ट्रांजैक्‍ट टेक्‍नोलॉजीज ने यह तकनीक विकसित की है जिसकी मदद से ग्राहक UPI प्‍लेटफॉर्म का इस्‍तेमाल करते हुए कैश विड्रॉ कर सकते हैं. QR कोड किसी भी UPI एनेबल्‍ड ऐप से स्‍कैन किया जा सकता है. जैसे आप किसी सामान की खरीदारी पर पेमेंट करते हैं वैसे ही ATM में जब आप QR कोड स्‍कैन करेंगे तो वह आपको कैश देगा.

इस सर्विस की शुरुआत के लिए NPCI की अनुमति का है इंतजार

रिपोर्ट के मुताबिक AGS ट्रांजैक्‍ट टेक्‍नोलॉजीज को इस सर्विस की शुरुआत के लिए नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया यानी NPCI की हरी झंडी का इंतजार है. NPCI ही एटीएम नेटवर्क्स के साथ-साथ UPI प्‍लेटफॉर्म दोनों स्विच के नियंत्रण के लिए जिम्‍मेदार है. टाइम्‍स ऑफ इंडिया ने अपनी रिपोर्ट में AGS टेक्‍नोलॉजीज के सीएमडी रवि बी गोयल के हवाले से कहा है कि जिन बैंकों से इस नई तकनीक के बारे में बातचीत की है, वे काफी उत्‍साहित हैं. रिपोर्ट में गोयल के हवाले से यह भी कहा गया है कि UPI और ATM नेटवर्क्‍स दोनों एक ही फाइनेंशियल स्विच पर काम करते हैं और UPI ज्‍यादा सुरक्षित ट्रांजैक्‍शन प्‍लेटफॉर्म है.

बैंकों को भी इसके लिए ज्‍यादा पैसे नहीं करने होंगे खर्च

रिपोर्ट में AGS ट्रांजैक्‍ट टेक्‍नोलॉजीज के ग्रुप चीफ टेक्‍नोलॉजी ऑफिसर महेश पटेल के हवाले से कहा गया है कि बैंकों को अपने ATM के हार्डवेयर में इस तकनीक के लिए कोई बदलाव नहीं करना होगा. इसके लिए ATM  के सॉफ्टवेयर में थोड़ा सा बदलाव करने की जरूरत होगी. आपको बता दें कि अब भी कुछ बैंक कार्डलेस ATM विड्रॉल की सुविधा उपलब्‍ध कराते हैं लेकिन यह उनसे कहीं ज्‍यादा सुविधाजनक और फास्‍ट होगा.

Ankush Kumar
Namaskar, I'm Ankush Kumar Author & Founder of the SabKuchhSikho.com & Ankuonline.co.in I'm also a Youtuber at youtube channel name (Anku Online), share knowledge related to Banking, Internet, Online, Extra Knowledge, etc, in Hindi languages.
https://www.sabkuchhsikho.com
Top
Optimization WordPress Plugins & Solutions by W3 EDGE